नवरात्रि 2020: नवरात्रि में स्वस्थ रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 चीजें

0

नवरात्रि 2020: शारदीय नवरात्रि हर साल आश्विन के महीने में मनाया जाता है। इसकी शुरुआत अश्वस्थ माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को घटस्थापना यानी कलश स्थापना से होती है। इस साल 17 अक्टूबर यानी आज से शारदीय नवरात्र शुरू हो गए हैं। आज से नौ दिनों तक लगातार माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाएगी। कहा जाता है कि सच्ची श्रद्धा से माँ की भक्ति करने की मन्नत पूरी होती है। इसके लिए व्रती नवरात्रि में उपवास रखते हैं। इसमें उपवास केवल एक समय में सेंधा नमक युक्त भोजन के साथ किया जाता है। जबकि कुछ व्रती फलाहार पर रहते हैं। अगर आप भी नवरात्रि में उपवास रखते हैं और कोरोना अवधि के दौरान स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो अपने फल में इन चीजों को जरूर शामिल करें-

1. रोस्ट मखाना खाएं

आपको अपने आहार में रोस्ट मखाना और मूंगफली को शामिल करना चाहिए। इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसके लिए मखाना और मूंगफली को घी में भूनें। सेंधा नमक डालते समय इसका स्वाद बढ़ा सकते हैं। नवरात्रि में भुना हुआ मखाना उत्तम दर्जे का और स्वास्थ्यवर्धक फल है।

2।बटर का हलवा खाएं

आप नवरात्रि के दौरान उपवास के दौरान मखाने की खीर खा सकते हैं। इसके लिए मखाने को अपनी आवश्यकता के अनुसार 15 मिनट तक दूध में उबालें। अब इसमें ड्राई फ्रूट्स मिलाएं। जबकि मीठे के लिए चीनी की जगह गुड़ का उपयोग करें।

3।नारियल पानी पिएं

शरीर में पानी की कमी को दूर करने के लिए उपवास नारियल पानी ले सकते हैं। इसमें अधिक इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो शरीर को लंबे समय तक हाइड्रेट रखते हैं। इसके लिए उपवास के दिनों में रोजाना एक गिलास नारियल पानी पीएं।

4।केला और अखरोट खाएं

केला और अखरोट दोनों ही स्वस्थ खाद्य पदार्थ हैं। इसके लिए आप केला, अखरोट और दही स्मूदी बना सकते हैं। उपवास के दिनों में, सुबह की शुरुआत स्मूदी से करें।

5।एक प्रकार का अनाज डोसा

उपवास में कुट्टू के आटे का सेवन किया जाता है। ऐसे में कुट्टू का डोसा एक बेहतर विकल्प है। यह कम तेल में बनता है। जबकि यह उपवास का बेहतर विकल्प है। इसे आलू और पनीर को मिलाकर स्वादिष्ट बनाया जा सकता है। जबकि नारियल की चटनी इसके स्वाद को और बढ़ा देती है।

6. खुसी खिचड़ी खाएं

साबूदाने की खिचड़ी को अंग्रेजी में Pears Sago कहा जाता है। इसमें स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो उपवास में शक्ति प्रदान करते हैं। साथ ही साबूदाने की खीर का भी सेवन किया जा सकता है। जबकि साबूदाने की पकौड़ी भी खाई जा सकती है।

Leave a Reply