Connect with us

Technology

Margherita Hack Google Doodle: 'द लेडी ऑफ द स्टार्स' का 99वां जन्मदिन, गूगल ने इटैलियन प्रोफेसर व खगोल भौतिकीविद् मार्गेरिटा हैक को समर्पित किया खास डूडल

Published

on

Margherita Hack Google Doodle: 'द लेडी ऑफ द स्टार्स' का 99वां जन्मदिन, गूगल ने इटैलियन प्रोफेसर व खगोल भौतिकीविद् मार्गेरिटा हैक को समर्पित किया खास डूडल

मार्गेरिटा हैक गूगल डूडल (Photo Credits: google Homepage)

Margherita Hack Google Doodle: इटैलियन प्रोफेसर (Italian Professor), लेखक और खगोली भौतिकीविद् (Astrophysicist) मार्गेरिटा हैक (Margherita Hack) की आज 99वीं जयंती मनाई जा रही है, मार्गेरिटा को ‘लेडी ऑफ द स्टार्स’ (The Lady of the Stars) भी कहा जाता है. उनके 99वीं जयंती के खास अवसर पर गूगल ने खास डूडल (Google Doodle) समर्पित किया है. ‘लेडी ऑफ द स्टार्स’ के 99वें जन्मदिन पर गूगल ने अपने खास डूडल के जरिए उन्हें सम्मानित किया है. उनका जन्म 12 जून  1922 को फ्लोरेंस में हुआ था. साल 1964 से 1 नवंबर 1992 तक मार्गेरिटा हैक ट्राएस्टे यूनिवर्सिटी में खगोल विज्ञान की प्रोफेसर थीं. वो ट्राइस्टे एस्ट्रोनॉमिकल ऑब्जर्वेटरी की पहली महिला निदेशक भी रह चुकी हैं. विज्ञान के अलावा मार्गेरिटा शिक्षा और राजनीति में भी सक्रिय रुप से शामिल थीं.

सर्च इंजिन गूगल ने जो डूडल उन्हें समर्पित किया है, उसमें मार्गेरिटा हैक कुर्सी पर बैठकर दूरबीन में देखते हुए नजर आ रही हैं. इस एनिमेटड डूडल में क्षुद्रग्रह 8558 को घूमते हुए देखा जा सकता है. हैक को साल 1995 में क्षुद्रग्रह 8558 हैक की खोज करने का श्रेय दिया जाता है. बता दें कि साल 1994 में उन्हें अपने वैज्ञानिक शोध के लिए टार्गा ग्यूसेप पियाजी से सम्मान से नवाजा गया था. इसके अलावा साल 1995 में मार्गेरिटा को वैज्ञानिक प्रसार के लिए कॉर्टिना उलिसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. यह भी पढ़ें: UEFA Euro 2020 Google Doodle With Schedule: यूरोपीय फुटबॉल चैंपियनशिप की शुरुआत, गूगल ने समर्पित किया ये खास डूडल

गौरतलब है कि इटैलियन प्रोफेसर, लेखक और खगोली भौतिकीविद् मार्गेरिटा हैक ने 19 फरवरी 1944 को एल्डो डी रोजा से आर्सेट्री में सैन लियोनार्डो के चर्च में शादी की थी. बताया जाता है कि डी रोजा उनके बचपन के सहपाठी थे. मार्गेरिटा के वैज्ञानिक हितों और अनुसंधान गतिविधि विषयों पर गहन शोध किया, जिसकी एक लंबी लिस्ट है. उन्हें सितारों की स्पेक्ट्रोस्कोपिर विशेषताओं के बारे में जानने और उनकी व्याख्या करने के लिए मुख्य रुप से जाना जाता है. इनके रिसर्च में सितारों की रासायनिक संरचना, उनके सतह के तापमान और गुरुत्वाकर्षण का अध्ययन शामिल था. मार्गेरिटा का निधन 29 जून 2013 को 91 वर्ष की उम्र में हुआ था.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *