कोलकाता नाइट राइडर्स को बुरी तरह हराने के बाद रोहित शर्मा ने दी बड़ी भविष्यवाणी की

0

अबु धाबी: भारतीय प्रीमियर लीग में शुक्रवार को मुंबई इंडियंस ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ धमाकेदार जीत दर्ज की। मुंबई ने पहले तो केकेआर को 148 रन पर रोक दिया और उसके बाद 149 रनों के लक्ष्य को आसानी से 2 विकेट खोकर 16.5 ओवर में हासिल कर लिया। मुंबई की तरफ से क्विंटन डी कॉक ‘मैन ऑफ द मैच’ बने जिन्होंने 44 गेंदों पर नाबाद 78 रनों की पारी खेल दी। कप्तान रोहित शर्मा ने भी 35 रन बनाकर अच्छी शुरुआत दी। मैच के बाद रोहित शर्मा ने जीत की खुशी जाहिर करने के साथ-साथ एक भविष्यवाणी भी कर दी।

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ मिली धमाकेदार जीत के बाद रोहित शर्मा ने कहा कि लक्ष्य का पीछा करते हुए ऐसी जीत शानदार है। रोहित ने मैच के बाद प्रश्नोत्तरी समारोह में कहा, ” लक्ष्य का पीछा करते हुए इस तरह की सबसे सस्ती जीत दर्ज करना शानदार है। इससे हमारा आत्मविश्वास काफी बढ़ जाता है। ”

इसके अलावा हिटमैन के नाम से प्रसिद्ध इस कप्तान व ओपनर ने एक भविष्यवाणी भी कर डाली। रोहित ने कहा कि टूर्नामेंट में अब बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम ज्यादा मैच जीतेगी। उन्होंने कहा, ” मेरा मानना ​​है कि बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम अब विनगी से ज्यादा है। इसके मुकाबले में हमने पहले गेंद से ही प्रभावशाली गेंदबाजी की थी। ”

रोहित ने इस मुकाबले में अपने साथी ओपनर दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक के साथ पहले विकेट के लिए 94 रन की पार्टनरीशिप की। रोहित ने डी कॉक की तारीफ करते हुए कहा, ” मुझे डी कॉक के साथ खेलना पसंद है। वह शुरुआत से ही तेज खेलता है और ज्यादातर समय वह आक्रामक रवैया अपनाता है और मैं उसका साथ देता हूं। ”

डीकॉक ने अपनी नाबाद पारी में लेग साइड में कुछ करारे शॉट लगाये। इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ” मैं लेग साइड में अच्छे निशाने लगाता हूं। ऐसा नहीं है कि मैंने इसके लिए कोई योजना बनाई थी, लेकिन यह मेरे खेल का स्वाभाविक हिस्सा है। ” उन्होंने कहा कि वह पिछले मैच में आखिर तक बल्लेबाजी नहीं करने से वह निराश थे।डीकॉक ने कहा, ” पिछले मैच में मैं टीम को जीत पाने के लिए क्रीज पर मौजूद नहीं था, जिसकी मुझे निराशा थी। महेला जयवर्धने (कोच) से मुझे कुछ सुधार करने के लिए कहा जिसका मुझे फायदा हुआ। ‘

डीकॉक ने ये भी कहा कि जयवर्धने बेशक बेहद शांत दिखने वाले हैं लेकिन जब अनुशासन की बात आती है तो वे काफी सख्त रहते हैं।) गौरतलब है कि मुंबई इंडियंस का सपोर्ट स्टाफ हमेशा से पूर्व दिग्गजों से भरा रहा है और इस बार भी उन्हें क्रिकेट का पाठ पढ़ाने और रास्ता दिखाने के लिए कई पूर्व धुरंधर मौजूद हैं। शायद यही कारण है कि डिफेंडिंग चैंपियन टीम ने फिर से लगातार मैच जीतने शुरू कर दिए हैं।

Leave a Reply