पंजाब के मुख्य गेंदबाज ने कहा- आईपीएल अंडर -19 से अलग, यहां गलती हुई तो वापसी की गुंजाइश खत्म क्योंकि गेंदबाज को मिलते ही पूरे ओवर हैं।

0

रेज के रहने वाले रवि बिशनोई अब तक 8 मैच में 8 विकेट ले चुके हैं। (फाइल फोटो)

(संजीव गर्ग) अंडर -19 विश्व कप 2020 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले लेग स्पिनर रवि बिशनोई किंग्स इलेवन पंजाब टीम के प्रमुख गेंदबाज हैं। रेटेड के बिशनोई अब तक 8 मैच में 8 विकेट ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि अंडर -19 विश्व कप से आईपीएल इस मायने में अलग है कि एक गेंदबाज के पास सिर्फ 4 ओवर होते हैं। ऐसे में गलती करने के बाद वापसी की संभावना कम रहती है। अभी मेरा पूरा ध्यान टी 20 लीग पर है। टीम इंडिया के बारे में नहीं सोच रहा हूं। बातचीत हुई का अंश…

  • टीम के कोच व मेंटर अनिल कुंबले हैं। आपको क्या नया सीखने को मिला?

उनकी तरह मैं भी लेग स्पिनर हूं। अंडर में किस तरह गेंदबाजी करना है, उसके बारे में बताया। फ्लिपर पर भी उनके साथ काफी मेहनत की है। खिलाड़ी के लिए आईपीएल बड़ा मंच है। यहाँ अच्छा करने से पहचान बनती है। मैं कोशिश कर रहा हूं कि यहां अपना 100 प्रतिशत दूं।

  • आईपीएल में कई बड़े बल्लेबाजों के विकेट हैं। सामने बड़ा दंत चिकित्सक होने से क्या अतिरिक्त दबाव रहता है?

मैं यह सोचकर बॉलिंग नहीं करता कि सामने कौन है। यह सच है कि आईपीएल में आपको दुनिया के बस्तिकों को गेंदबाजी करने का मौका मिलता है, जिससे आत्मविश्वास भी बढ़ता है।

  • आप अराउंड विकेट और ओवर द विकेट दोनों तरफ से गेंदबाजी कर रहे हैं। इसका क्या कारण है?

मैंने अंडर -19 में एक बार ऐसे बॉलिंग की थी। फिर मेरे कोच शाहरुख (पठान) और प्रद्योत (सरेच) ने मुझे इसकी काफी प्रैक्टिस कराई। यूएई में भी कुंबले सर ने नेट्स में इस पर काफी मेहनत की। उन्होंने कहा कि आप कर सकते हैं। मैं टीम में सबसे छोटा हूं। इसलिए मुझे तो सभी बहुत आश्रय करते हैं। हंसी-मजाक सभी करते हैं लेकिन वर्दीवालों बॉस (इटली गेल) का जवाब नहीं।

  • टीम अच्छा कर रही है। लेकिन बहुत अच्छे रिजल्ट नहीं आ रहे हैं। ऐसे में ड्रेसिंग रूम का माहौल कैसा रहता है?

अच्छा करके हारते हैं, तो ड्रेसिंग रूम में निराशा का माहौल नहीं होता। कोच कुंबले, कप्तान राहुल और प्रबंधन का मुझ पर विश्वास है। मेरी पूरी कोशिश यही होती है कि मैं विश्वास पर खरा उतरूं और अपना बस्ता दूं।

  • अंडर -19 विश्व कप में खेलने और आईपीएल में खेलने में क्या फर्क महसूस करते हैं?

मामला सिर्फ इतना है कि आईपीएल में गलती की तो वापसी की संभावना कम होती है। केवल 4 ओवर ही होते हैं। अंडर -19 विश्व कप में सभी युवा खिलाड़ी होते हैं। 50 ओवर का मैच होता है। एक ओवर ठीक नहीं भी हुआ तो वापसी की संभावना होती है।

  • गावस्कर ने भी आपकी तारीफ की। उन्होंने कहा कि इतना ज्यादा रनअप वाला लेग स्पिनर नहीं देखा है?

पहले मैं मीडियम पेसिफिक करता था। बाद में कोचों ने कहा कि स्पिन गेंदबाजी करो। लंबे रनअप की आदत में से पड़ी। मेरे लिए यह बदलना भी संभव नहीं होगा।

  • पहली बार आईपीएल खेल रहे हैं। फैंस नहीं है, क्या कारण हैं?

हां, यह बात को तो मैं जरूर मिस कर रहा हूं। सौई मानसिंह स्टेडियम में राजस्थान के दर्शकों के सामने खेलने का मजा ही कुछ और होता है।

  • रेज के अंडर -19 के ट्रायल में पहले ही दिन बाहर कर दिया गया था?

तीन साल से मैं लगातार ट्रायल के लिए आ रहा था। हर बार बाहर हो जाता है। 2017 मैं भी पहले ही दिन बाहर हो गया। बाहर आकर रोने लगा। पिता भी गुस्से में थे। उन्होंने मेरे कोच शाहरुख और प्रद्योत से कहां, नहीं ब्लाना मुझे यह क्रिकेट। तब दोनों कोच ने सिलेक्टर से बात की। मुझे अगले दिन फिर से ट्रायल के लिए बुलाया गया और मैं सिलेक्ट हुआ। उस दिन सिलेक्ट नहीं होता तो आज यहां तक ​​नहीं पहुंचता।

Leave a Reply