Connect with us

Lifestyle

बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो रहे ऐसे खिलौने, दिमाग पर पड़ता है बेहद बुरा असर

Published

on

नई दिल्ली: हम आम तौर पर खिलौनों को हल्के में लेते हैं लेकिन कम से कम अगर हम अपने छोटे बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित हैं तो ऐसा नहीं करना चाहिए. जनरल एनवायरनमेंट हेल्थ (General Environmental, Health) में पब्लिश एक स्टडी में बच्चों के खिलौनों (Toys) में प्रयोग हो रहे एक जहरीले केमिकल (Toxic Chemicals) के खतरे को लेकर आगाह किया गया है. स्टडी में कहा गया कि हमें जल्द से जल्द खतरनाक केमिकल ऑर्गेनोफॉस्फेट एस्टर (OPEs) से बने खिलौने या अन्य प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल पर रोक नहीं लगाई गई तो आने वाली पीढ़ियों के दिमाग पर बुरा असर पड़ सकता है.

गाड़ियों और मोबाइल फोन में भी यूज हो रहा ये केमिकल

हाल में की गई स्टडी से पता चलता है कि बाजार में बेचे जाने वाले खिलौनों में ऑर्गेनोफॉस्फेट एस्टर (OPEs) का प्रयोग हो रहा है. इसके अलावा इस केमिकल का प्रयोग मोबाइल फोन या गाड़ियों में यूज होने वाली प्लास्टिक में किया जा रहा है जबकि यह एक बेहद जहरीला केमिकल है जिससे स्वास्थ्य पर खराब असर पड़ता है. स्टडी में पाया गया कि ऑर्गेनोफॉस्फेट एस्टर के संपर्क में आने से कई तरह की गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं. यही कारण है कि कई देशों ने खिलौनों में इस केमिकल के यूज को कंट्रोल किया गया है.

हो सकती हैं गंभीर समस्याएं

 

स्टडी में दावा किया गया है, ऑर्गेनोफॉस्फेट एस्टर (OPEs) के संपर्क में आने से आईक्यू लेवल, एकाग्रता और मेमोरी पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है. इतना ही नहीं इस केमिकल की वजह से कैंसर जैसी गंभीर समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है साथ ही ये फर्टिलिटी से जुड़ी समस्याओं को भी बढ़ा सकता है.

Advertisement

 

हाथ या चेहरे के जरिए जा सकता है शरीर में

स्टडी में आगाह किया गया है कि ऑर्गेनोफॉस्फेट एस्टर का उपयोग न सिर्फ खिलौनों में बल्कि स्मार्टफोन, टीवी और गाड़ियों में कंट्रोल न किया गया तो भविष्य में इसके गंभीर नुकसान झेलने पड़ेंगे. स्मार्टफोन में इस्तेमाल हो रहा OPEs हाथ या चेहरे के जरिए इंसान की बॉडी में ट्रांसफर हो सकता है.

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *