Connect with us

Lifestyle

इस वक्त जरूर धोने चाहिए हाथ, दूर रहेंगी बीमारियां, जानें सही तरीका – News India Live, India News, Live News India

Published

on

handwashing steps: हर साल 15 अक्टूबर को ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (global handwashing day 2021) मनाया जाता है. इस दिन का उद्देश्य सेहतमंद बने रहने के लिए दुनिया में हाथ धोने के महत्व को बताना है. हाथ धोना या हैंड हाइजीन काफी जरूरी है. क्योंकि जब आप हाथ धोते हैं, तो ना सिर्फ आपके हाथों से गंदगी, धूल-मिट्टी, तेल आदि साफ होते हैं, बल्कि बीमार करने वाले कई कीटाणुओं का भी नाश होता है. कोरोना के माहौल में हाथ धोना और भी जरूरी हो गया है.

 

आइए ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे पर हाथ धोने के सही तरीके (handwashing steps) और सही वक्त के बारे में जान लेते हैं.

क्या है हाथ धोने का बेस्ट तरीका? – Handwashing Steps
जेपी हॉस्पिटल के लैब मेडिसिन डिपार्टमेंट, माइक्रोबायोलॉजी के एसोसिएट डायरेक्टर Dr. Suryasnata Das के अनुसार, अपने बच्चों को हाथ धोने का ये तरीका सीखाना चाहिए. ताकि उनमें अच्छी आदत आए और वे बीमारियों से दूर रह सकें.

Advertisement

 

  1. सबसे पहले ठंडे या गुनगुने (ज्यादा गर्म नहीं) साफ पानी से हाथों को गीला कर लें.
  2. इसके बाद साबुन या लिक्विड सोप लेकर करीब 20 सेकेंड हाथों को रगड़ें और झाग बनाएं.
  3. साबुन को उंगलियों के बीच में, हाथ के पीछे, नाखूनों के पास, कलाई, अंगूठों, उंगलियों की टिप पर भी रब करना ना भूलें.
  4. इसके बाद हाथों को साफ चलते पानी से धोकर तौलिये की मदद से सुखा लें.

 

किस समय हाथ धोना है जरूरी? – When to wash your hands
Dr. Suryasnata Das के मुताबिक, कीटाणुओं का फैलना रोकने और बीमार पड़ने से बचने के लिए निम्नलिखित स्थितियों में हाथ जरूर धोएं. जैसे-

  • खाना बनाने या खाने से पहले
  • वॉशरूम इस्तेमाल करने के बाद
  • घर में सफाई करने के बाद
  • पालतू या अन्य जानवर को छूने के बाद
  • किसी बीमार परिवारवाले या परिचित की सेवा करने या उससे मिलने के बाद
  • छींकने, खांसने या नाक साफ करने के बाद (चाहे आप ने किसी टिश्यू या रुमाल की मदद ही ली हो)
  • बाहर से आने के बाद (खेलने, बागवानी करने आदि), आदि

 

हाथ धोने से हम स्वस्थ कैसे रहते हैं?
किसी बीमारी से बचने या उसे फैलने से रोकने के लिए एक्सपर्ट हाथ धोने को पहला और जरूरी कदम मानते हैं. इन बीमारियों में कोविड-19, आम जुकाम, फ्लू, हेपेटाइटिस ए, कई प्रकार के डायरिया आदि शामिल हैं.

 

  • इन तरीकों से कीटाणु एक-दूसरे व्यक्ति में फैलते हैं.
  • गंदे हाथ छूने से
  • गंदे डायपर बदलने पर
  • संक्रमित सतहों को छूने पर
  • संक्रमित पानी या खाने से
  • किसी बीमार व्यक्ति के बॉडी फ्लूइड के संपर्क में आने पर
  • खांसने या छींकने के दौरान निकलने वाली ड्रॉप्लेट्स के संपर्क में आने पर

हाथ धोने के लिए क्या इस्तेमाल करें?
Dr. Suryasnata Das का कहना है कि अधिकतर स्थितियों में हाथों से बैक्टीरिया या कीटाणु नष्ट करने के लिए साबुन और चलते पानी से हाथ धोना सबसे बेहतर है. हालांकि, जिस स्थिति में आपके पास साबुन या पानी ना हो, तो आप किसी एल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन ध्यान रखें कि सैनिटाइजर में 70 प्रतिशत से ज्यादा एल्कोहॉल होना चाहिए. वरना यह कुछ कीटाणुओं के खिलाफ बेअसर हो सकता है.

Advertisement