नवजात शिशु की देखभाल के उपाय: कोरोना महामारी की अवधि में शिशुओं की देखभाल कैसे करें

0

 

नवजात शिशु की देखभाल के उपाय: कोरोना महामारी की अवधि में शिशुओं की देखभाल कैसे करें  World Daily News 24

नवजात शिशु की देखभाल के उपाय: कोरोना महामारी की अवधि में शिशुओं की देखभाल कैसे करें : लोग इस वायरस के बारे में अधिक से अधिक जानकारी एकत्र कर रहे हैं, और खुद को बचाने के तरीके भी जान रहे हैं। कोरोना संकट में, नियमित रूप से हाथ धोना, अपने आसपास स्वच्छता बनाए रखना और सामाजिक दूरियों का ख्याल रखना जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। युवा बच्चों के माता-पिता, विशेषकर नवजात शिशु, इस कोरोना अवधि के दौरान अपने छोटों की सुरक्षा के बारे में अधिक चिंतित होते हैं।

कोविद संक्रमित मां भी बच्चे को स्तनपान करा सकती है

जब एक बच्चा पैदा होता है, तो उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है और उन्हें मजबूत विकास और स्वस्थ नींव के लिए पर्याप्त पोषण की आवश्यकता होती है। कोई भी माँ अपने बच्चे को स्तनपान कराकर यह पोषण दे सकती है। स्तनपान के कई लाभ हैं और संक्रामक रोगों के खिलाफ यह बहुत प्रभावी है, क्योंकि यह सीधे मां से एंटीबॉडी को प्रसारित करने में मदद करता है, जो बच्चे की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। इसलिए, सभी माताओं को पहले छह महीनों तक अपने शिशुओं को विशेष रूप से स्तनपान कराना चाहिए। यदि मां कोविद -19 से संक्रमित है, तो उसे स्तनपान जारी रखना चाहिए, सभी आवश्यक सावधानी बरतते हुए।

विश्व स्वास्थ्य संगठन का यह भी कहना है कि कोविद -19 से संक्रमित माताओं को स्तनपान शुरू करने या जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए क्योंकि यह बच्चे को वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है।

एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों में कोरोना का खतरा अधिक होता है

जिन बच्चों की आयु एक वर्ष से कम है, उन्हें अन्य बच्चों की तुलना में कोविद संक्रमण का खतरा अधिक होता है। यह उनकी कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली और छोटे वायुमार्ग के कारण है। जिसके कारण संक्रमण होने पर उन्हें सांस लेने में परेशानी हो सकती है। इसलिए, एक बार जब बच्चा घर आता है तो उसे बहुत सावधानी बरतनी चाहिए और सभी उपाय करने चाहिए।

सुरक्षा को प्राथमिकता बनाएं

कई माता-पिता अपने नवजात शिशु को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से मिलाने के लिए उत्साहित रहते हैं, लेकिन बच्चे को वायरस से सुरक्षित रखने के लिए सामाजिक दूरी सबसे अच्छी रणनीति है।

स्तनपान कराना

एक नवजात शिशु को स्तनपान कराना अनिवार्य है क्योंकि यह संक्रमण के खिलाफ उनकी प्रतिरोधक क्षमता और प्रतिरोध का निर्माण करने में मदद करता है। स्तनपान से शिशुओं के वायरस से प्रभावित होने की संभावना कम होती है। यदि मां कोरोनोवायरस पॉजिटिव है, तो उसे मास्क पहनना चाहिए और बच्चे को स्तनपान कराना जारी रखना चाहिए।

जरूरत पड़ने पर डॉक्टर से बात करें

यदि आप अपने नवजात शिशु को डॉक्टर के पास ले जाना चाहते हैं, तो अस्पताल जाने से पहले एक वीडियो कॉल पर इस संबंध में डॉक्टर से सलाह लें।

साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें

खांसते या छींकते समय मुंह और नाक को ढकना जरूरी है। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि जो भी आपके घर में आता है वह बच्चे के पास जाने से पहले खुद को साफ कर ले और हर समय मास्क पहने। इसके अलावा, अपने बच्चे के लिए भी पूरी सफाई से भोजन तैयार करें।राशिफल 10 नवंबर 2020: जानिए किस राशि के लिए कैसा रहेगा चमक और आज का दिन

close

World Daily News 24

Enter your email address to Subscribe to Our Newsletter and receive notifications of new posts by email.

We promise we’ll never spam! Take a look at our Privacy Policy for more info.