दिल्ली से हार के बाद माही ने कहा- धवन के 3 कैच छोड़ना एक्सप्रेस पड़ा, ब्रावो अनफिट थे, इसलिए जडेजा को आखिरी ओवर दिया।

0

आईपीएल के 13 वें सीज़न के 34 वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से हरा दिया।

आईपीएल के 13 वें सीजन के 34 वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स (डीसी) से हारने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टीम की फिलिंग से नाखुश नजर आए। उन्होंने कहा कि शिखर धवन के 3 कैच छोड़ना एक्सप्रेस पड़ा। वहीं, ब्रावो को लास्ट ओवर न देने के निर्णय पर धोनी ने कहा कि ब्रावो अनफिट थे, इसलिए स्पिनर रविंद्र जडेजा को बॉलिंग दी। तीन कैच छूटने के बाद धवन ने आईपीएल का पहला शतक जड़कर दिल्ली को मैच जिताया।

कैच छोड़ना भारी पड़ा: धोनी

धोनी ने मैच के बाद कहा, ” धवन का विकेट हमारे लिए जरूरी था। हमने कुछ कैच छोड़े, जिसका हमें खामियाजा भुगतना पड़ा। धवन ने शानदार पारी खेली। अगर वे लय में होते हैं तो स्कबोर्ड मूव बनाते रहते हैं। साथ ही अपने स्ट्राइक रेट को भी बनाए रखना हैं। धवन ने काफी बेहतरीन बल्लेबाजी की और दूसरे बल्लेबाजों ने भी उनका बखूबी साथ निभाया। ”

दीपक चाहर, धोनी और अंबाती रायडू ने ड्रॉप किए धवन के कैच

चेन्नई के फील्डर्स ने धवन के 3 कैच छोड़े। जडेजा के 7 वें ओवर की तीसरी गेंद पर दीपक चाहर ने पहली कैच ड्रॉप की। उस वक्त धवन 27 रन बनाकर बैटिंग कर रहे थे। दूसरा कैच 10 वें ओवर में ड्वेन ब्रावो की आखिरी गेंद पर विकेटकीपर धोनी ने ड्रॉप किया। उस वक्त धवन का स्कोर 50 रन था। वहीं, धवन जब 79 रन पर थे, तब 16 वें ओवर में शार्दुल ठाकुर की गेंद पर अंबाती रायडू ने कैच छोड़ा।

ब्रावो अनफिट थे, इसलिए जडेजा को सौंपी गई बॉलिंग: धोनी

दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन की दरकार थी। धोनी ने अंतिम ओवर में ड्वेन ब्रावो की जगह रविंद्र जडेजा को बॉलिंग देकर सबको चौंका दिया। धोनी ने मैच के बाद बताया कि ब्रावो फिट नहीं थे, इसलिए जडेजा को गेंद थमाया गया। धोनी ने कहा, ‘ब्रावो के अलावा मेरे पास दो औप्शन थे, सब करन या जडेजा। मैंने 19 वीं को को और 20 वीं जडेजा को देने का सोचा, जो कि काफी नहीं चल रहा है। ‘

दूसरी इनिंग में बल्ले पर आ रही थी गेंदबाज: धोनी

धोनी ने कहा कि दूसरी इनिंग्स में विकेट ने बेहतर खेल दिखाया। दूसरी इनिंग में बॉल बैट पर अच्छे से आ रही थी। मैदान पर काफी ड्यू था। पहली इनिंग के मिडिल ओवर में रन बनाने में कठिनाई हो रही थी, जबकि दूसरी इनिंग में ऐसा नहीं था। अगर आप पहली पारी में 10 रन कम बनाते हैं, तो बॉलिंग के दौरान आपको वो 10 रन बचाने होंगे। यह मैच में काफी डिफरेंस ला देता है।

वाम करन ने शानदार बॉलिंग की: धोनी

यह पूछे जाने पर कि इस मैच से क्या पॉजिटिव लिया जा सकता है, धोनी ने कहा, ‘जिस तरह से वाम करन ने 19 वें ओवर में बॉलिंग की, वह काबिले तारीफ थी। वाम को यह बोला गया था कि वे वाइड यॉर्कर्स ही फेंकेंगे। उस योजना को बखूबी एग्जिक्यूट करना करना काफी अच्छा था। मुझे लगता है कि इस मैच से उनमें काफी आत्मविश्वास लाएगा। मुझे लगता है कि वाइड यॉर्कर किसी भी बल्लेबाज के लिए खेलना मुश्किल है। ‘

इस सीजन में दिल्ली ने चेन्नई को दूसरी बार शिकस्त दी। दिल्ली कैपिटल्स 9 में से 7 मैच जीतकर पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंच गई है। शिखर धवन ने 101 रन की पारी खेली आईपीएल में पहली शतक जड़ा।

Leave a Reply